NSA ajit doval ने NIA "जाँच एजेंसी"को दिया आतंकवाद से लड़ने का मंत्र

NSA ajit doval ने NIA "जाँच एजेंसी"को दिया आतंकवाद से लड़ने का मंत्र,ajit doval
NSA ajit doval ने NIA "जाँच एजेंसी"को दिया आतंकवाद से लड़ने का मंत्र

आतंकी घटनाओं की जांच के लिए बनी एजेंसी NIA की कांफ्रेंस में आये NSA अजीत डोभाल NIA के चीफ योगेश चंद्र मोदी  नए खतरे के बारे में बताते हुए कहा बांग्लादेश के 125 सन्दिग्ध भारत के अलग अलग राज्यों में सक्रिय हैं ,बांगलादेश के 125  संदिग्धों की गुसपैठ

आतंकी घटनाओं की जाँच के लिये बनी एजेंसी "NIA" के कान्फ्रेंस में आये "NSA" अजीत डोभाल


आज जाँच एजेंसी NIA की कांफ्रेंस थी जिसमे पहुँचे NSA अजीत डोभाल ने (जाँच एजेंसी) को आतंकवाद से निपटने के लिए मूल मंत्र दिए बताया कि आतंक को खत्म करना है तो तोड़ना पड़ेगा सपोर्ट, डोभाल ने आतंक को विचार कहा और NSA अजीत डोभाल ने आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले देश पाकिस्तान की ओर निशाना साधा और कहा कि पाकिस्तान ने आतंक को ही सरकारी नीति बना लिया है ,डोभाल ने समझाते हुए कहा कि जब किसी अपराधी को सरकार की स्पोर्ट मिलती है तो वो और भी ताकतवर और बड़ी चुनौती बन जाता है और पाकिस्तान ने यही किया लेकिन अब उस पर दुनिया का दबाव है वो अब एक्शन ले

NIA Y C MODI


आतंकवाद को लेकर अजीत डोभाल ने बड़ा बयान दिया


NSA अजीत डोभाल ने आतंकवाद को पनपने देने वाले देश की ओर इशारा करते हुए बताया कि एक आतंकी संगठन कैसे किसी देश का सपोर्ट मिलने पर आगे बढ़ता है - बोले आदि एक अपराधी स्टेट (देश) का समर्थन प्राप्त करता है अगर किसी जगह पर पुलिस मदद कर रही है तो यह कितना मुश्किल होगा आतंक को खत्म करने के लिए यह चुनौती भरा है आतंकवाद का कोई बहुत ही मजबूती से समर्थन कर रहा है ,
स्टेट आतंकियों का समर्थन करते हैं
कुछ स्टेट देश मास्टर हैं इस काम में
डोभाल ने बताया और कुछ स्टेट (देश) ने आतंकवाद को हमारे खिलाफ अपनी स्टेट पॉलिसी बना लिया है जो गंभीर चुनौती है ,
आज पाकिस्तान पर जो सबसे बड़ा दबाव है वह फाइनेंसियल एक्सन टास्क फोर्स (FATF) की कार्रवाई के कारण है जिसने उन पर इतना दबाव बनाया है कि शायद कोई अन्य कार्रवाई नही कर सकता था
अगर आप सही जानकारी रखते हैं जिसे अंतरराष्ट्रीय मंचों पर प्रभावी तरीके से रखा जा सके हर कोई जानता जी की पाकिस्तान आतंकवाद का समर्थन करता है पाकिस्तान आतंकवादियों की वित्तीय मदद भी करता है लेकिन मुद्दा ये है कि पहले आपको इस तक पँहुचना होगा और दूसरा जानकारी सबूत में कैसे बदलेगी.




यदि आपको हमारी दी हुई जानकारियां अच्छी लगती हैं तो नीचे दी गयी फॉलो बटन को दबाकर fastnewstrack1 को फॉलो कर सकते हैं यदि हमारी उपडेट सबसे पहले पाना चाहते हैं तो ईमेल सब्स्क्रिप्सन बटन को प्रेस करके सब्सक्राइब भी कर सकते हैं

Post a Comment

0 Comments