Vikram lander अब फिर से मिसन को अंजाम देगा,संपर्क स्थापित करने के लिए प्रयास में जुटा(ISRO)के साथ (NASA)

Vikram lander से सम्पर्क स्थापित होने की संभावनाएं बढ़ी अब ISRO के साथ खड़ा हुआ NASA सम्पर्क स्थापित होने के बाद विक्रमलैंडर के साथ रोवर प्रज्ञान भी देगा मिसन को अंजाम.

Nasa vikram lander photo
NASA began to contact Vikramlander

Vikramlander से सम्पर्क स्थापित करने में मदद करेगा NASA


Vikramlander से सम्पर्क स्थापित करने में होगा सफल भारतीय आंतरिक्ष अनुसंधान संगठन(ISRO), 
हालाँकि अभी सम्पर्क हुआ नही है ,लेकिन अब ISRO के साथ विक्रमलैंडर से सम्पर्क स्थापित करने के लिए खड़ा हुआ NASA स्पेस सेंटर.

   NASA के अधिकारियों ने विक्रमलैंडर के लॉन्चिंग से लेकर चाँद तक पहुचने की एक-एक तस्वीर शेयर करेगा इससे यह पता लगाया जाएगा कि क्या हुआ था विक्रमलैंडर के साथ जिसके कारण ISRO का सम्पर्क टूट गया,अब इसरो और नासा दोनों लिंक करने की कोसिस को सफल बना सकते हैं 

 Where is the Vikramlander on the moon?


NASA began to contact Vikramlander


विक्रमलैंडर  से लैंडिंग से 1.2km चाँद से बची दूरी पर (ISRO) भारतीय आंतरिक्ष अनुसंधान संगठन से लिंक टूट गया था, जिसके कारण विक्रमलैंडर पर किसी का कंट्रोन न होने के कारण चुने गए जगह से 500मीटर दूर सॉफ्ट लैंडिंग की जगह हार्ड लैंडिंग हो गयी लेकिन इससे लैंडर टूटा फूटा नही बल्कि थोड़ा सा झुका हुआ दिखा इसरो के अधिकारियों का कहना है कि अभी भी हम विक्रमलैंडर से लिंक कर सकते हैं ,लेकिन इसके लिए विक्रमलैंडर के सभी कार्य प्रणालियों को एक्टिवेट करना होगा या तो सूर्य से चार्ज होकर स्वतः उसकी कार्य प्रणाली एक्टिवेट हो जाये तभी संपर्क होना संभव हो सकता है

विक्रम के लैंडिंग से अब तक का समय और अभी तक लिंक की उम्मीद

 प्रज्ञान सहित विक्रमलैंडर को चाँद पर लैंड किये हुए 6 दिन हो चुके हैं -वैज्ञानिकों का कहना है कि हम तभी तक विक्रमलैंडर से सम्पर्क स्थापित करने की कोसिस कर सकते हैं जबतक चाँद के उस क्षेत्र की सतह पर धूप है वहाँ अंधेरा होने के बाद हम विक्रम से संपर्क नही कर सकते अभी चाँद के उस क्षेत्र में रोसनी 20-21 sep तक  रहेगी और 20-21 sep तक ही हमविक्रमलैंडर से संपर्क स्थापित करने की कोसिस करेंगें.NASA और ISRO के वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि विक्रम से जल्द से जल्द लिंक  कर लिया जाएगा नासा के वैज्ञानिक भी ज्यादा से ज्यादा कोशिस कर रहे हैं ताकि विक्रमलैंडर से सम्पर्क स्थापित हो जाये और रोवर प्रज्ञान फिर से अपना कार्य बाखूबी से कर पाए .इसरो बेंगलुरु के पास बयालालू में अपने भारतीय डीप स्पेस नेटवर्क `आईडीएसएन 'की मदद से विक्रमलैंडर  से लिंक करने की कोशिश कर रहा है.
उम्मीद बहुत ही ज्यादा बड़ी है विक्रम लैंडर से संपर्क स्थापित करने की.

Rover pragyan photo nasa
प्रज्ञान रोवर

Post a Comment

0 Comments